खरीफ की फसल क्या है कब की जाती है इन फसलों की खेती | kharif ki fasal crops are grown in hindi

Kharif crops in hindi : हेलो फ्रेंड आज के आर्टिकल में हम जानेंगे खरीफ की फसल क्या है ? कब की जाती है इन फसलों की खेती, क्या है खरीफ की फसल (kharif ki fasal) के लिए उचित तापमान साथ ही साथ हम जानेंगे खरीफ (kharif crops in hindi) की कुछ महत्वपूर्ण फसलों के उदाहरण तो चलिए सबसे पहले बात कर लेते हैं कि आखिर क्या है खरीफ की फसल (kharif ki fasal) ?

खरीफ की फसल क्या है ? | what is kharif crops in hindi ? :

खरीफ की फसल जिसे मानसून की फसल (rainy season crops) के रूप में भी जाना जाता है, ऐसी फसलें होती है जिस का उत्पादन वर्षा ऋतु के दौरान की जाती है। खरीफ की फसल (kharif crops in hindi) में खरीफ शब्द अरबी भाषा का एक शब्द है। अरबी भाषा में इस शब्द का शाब्दिक अर्थ शरद ऋतु से है। भारत में इस शब्द का आगमन मुगल सम्राट के आगमन के साथ हुआ तभी से यह शब्द हमारे देश में व्यापक रूप से प्रयोग होता है।

इसे भी पढ़ें : रबी की फसल क्या होती है ?, कब की जाती है इनकी खेती

जून-जूलाई मे बो कर सितंबर-अक्टूबर में काटें मुनाफे की खरीफ की फसल (kharif crops) :

खरीफ की फसल ( kharif ki fasal) को जान लेने के बाद अब हमारे मन मे यह सवाल आता है कि आखिर खरीफ की फसल कब बोई जाती है ? (kharif crops are grown in which season)। भारत में खरीफ की फसल को आमतौर पर दक्षिण पश्चिमी मानसून के आगमन के दौरान होने वाली पहली बारिश के बाद बोई जाती है। इन फसलों की कटाई मानसून के अंत में की जाती है जो भारत में आमतौर पर जून जूलाई माह से लेकर सितंबर अक्टूबर माह तक के बीच में पड़ता है।

Note : भारत एक विशाल देश है अतः खरीफ की फसल (kharif crops in hindi) की बुवाई का समय अलग अलग हो सकता है क्योंकि इन फसलों की बुवाई मानसून के आगमन पर निर्भर करता है। उदाहरण के तौर पर देखा जाए तो दक्षिण भारत के राज्यों में जहां मानसून का आगमन सबसे पहले होता है वहां पर इन फसलों की बुवाई पहले आरंभ हो जाती है। इसके विपरीत उत्तरी भारत के राज्यों में यही मानसून कुछ देर बाद आती है तो वहां पर kharif ki fasal बुवाई कुछ देर बाद की जाती है।

बुवाई व वृद्धि के समय अधिक तो वहीं फसलों के पकते समय कम तापमान की मांग करते है खरीफ की फसल :

खरीफ की फसल (kharif crops in hindi), रबी की फसल के विपरीत बुवाई एवं वृद्धि के समय अधिक तापमान व आद्रता जबकि फसलों के पकते समय अपेक्षाकृत कम तापमान की मांग करते हैं। इस वर्ग की अधिकतर फसलें अल्प प्रकाश पोषी (Short Day Plants) होती है।

खरीफ की फसलों के उत्पादन में सर्वाधिक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है मानसून :

खरीफ की फसल (kharif ki fasal) की जल मांग अन्य फसलों की तुलना में अधिक होती है। इन फसलों की वृद्धि, विकास एवं प्रजनन मानसून की पैटर्न पर निर्भर करता है। वर्षा जल का समय व मात्रा इन फसलों के उत्पादन को काफी प्रभावित करते हैं। यही कारण है कि जिस वर्ष देश में मानसून की स्थिति अच्छी होती है उस वर्ष इन फसलों के उत्पादन में वृद्धि दर्ज की जाती है जबकि विपरीत मानसून की उपस्थिति में इसके उत्पादन में नकारात्मक प्रभाव पड़ता हैं।

धान (Paddy) है खरीफ की सबसे महत्वपूर्ण फसल :

धान खरीफ (kharif crops in hindi) की सबसे महत्वपूर्ण फसलों में से एक है जिस का उत्पादन हमारे देश में बड़े पैमाने पर की जाती है। यह एक शुष्क जलवायु वाला पौधा है। यह उन क्षेत्रों में अच्छी तरह से उगता है जहां पर आद्रता अधिक, दिन लंबे साथ ही साथ पानी की उपलब्धता अधिक होती है। धान के पौधों के लिए औसतन तापमान 21 डिग्री सेंटीग्रेड से लेकर 37 डिग्री सेंटीग्रेड के बीच उपयुक्त माना जाता है। वहीं यदि उनके अंकुरण की बात की जाए तो यह 28 डिग्री सेंटीग्रेड से लेकर 32 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान उपयुक्त माना जाता है। जबकि फूल आने के समय यह पौधा 26 डिग्री सेंटीग्रेड से लेकर 29 डिग्री सेंटीग्रेड एवं पकते समय 20 से 25 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान की मांग करता है।

कुछ अन्य महत्वपूर्ण खरीफ की फसल के उदाहरण | kharif crops examples in hindi :

खरीफ ऋतु (kharif ki fasal) की मुख्यतः धान, बाजरा, मक्का, ज्वार, कपास, ढांचा, मूंग, मूंगफली और लोबिया आदि प्रमुख फसलें हैं। इसके अतिरिक्त कुछ अन्य महत्वपूर्ण फसलों का भी उत्पादन भी खरीफ ऋतु के मौसम मे जाती है।

2 Comments
  1. WAMPLER7221 says

    Thank you!!1

  2. praveen says

    plz give me your no.

Leave A Reply

Your email address will not be published.