डीबीटी एग्रीकल्चर क्या है जानिए किसानों को इस योजना के लाभ | dbt agriculture in hindi

डीबीटी एग्रीकल्चर : देश में सरकार द्वारा आम जनता व किसानों के हितों के लिए विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाएं लागू करती रहती है जिससे कि देश के आम जनता व किसानों को इन कल्याणकारी योजनाओं से अधिक से अधिक लाभ हो, किसानों तथा आम जनता के जीवन स्तर मे सुधार हो सके। परन्तु देश में संचालित विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं के बावजूद किसानों को इन योजनाओं के लाभ से वंचित रहना पड़ता है तथा लाइन में खड़े अंतिम व्यक्ति के पास तो इन योजनाओं का लाभ ही नहीं पहुंच पाता।जिसका प्रमुख कारण सरकार द्वारा लाभार्थियों को इन योजनाओं के फलस्वरूप मिलने वाला लाभ अथवा सब्सिडी या तो चेक, नगद भुगतान, सेवाओं व वस्तुओं के कीमतों में छूट के रूप में प्राप्त होता था। जिसका लाभ उठा कर विचौलिये या कुछ भ्रष्ट सरकारी अफसर किसानों व आम जनता तक इन योजनाओं का लाभ पहुचने ही नही देते।

जिसे देखते हुए भारत सरकार अन्तिम व्यक्ति तक इन योजनाओं का लाभ पहुचाने तथा विचौलिये व इन भ्रष्ट अफसरों से मुक्त करने के लिए, इन योजनाओं के बदले मिलने वाले लाभो व सब्सिडीयो को लाभार्थियों के बैंक खातों में सिधे हस्तांतरण करने के लिए योजना की घोषणा करती है जिसे हम डीबीटी एग्रीकल्चर (Direct Benefit Transfer) के नाम से जानते हैं।

डीबीटी एग्रीकल्चर योजना क्या है ? | what is Dbt agriculture scheme : 

डीबीटी एग्रीकल्चर भारत सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं जैसे- एलपीजी सब्सिडी, मनरेगा भुगतान, छात्रवृत्ति, उर्वरक सब्सिडी आदि का लाभ सीधे लाभार्थी के खाते में हस्तांतरित करने के लिए शुरू की गई एक योजना है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली विभिन्न प्रकार के लाभों व सब्सिडीयो को चेक जारी करके, नकद धनराशि भूगतान करके अथवा आवश्यक वस्तुओं व सेवाओं के मुल्यों मे कमी करने के बजाय यह लाभ अथवा सब्सिडी लाभार्थियों के सिधे उनके बैंक खातों में भेज दिया जाता है। कुल मिलाकर देखा जाये तो डीबीटी एग्रीकल्चर (Direct Benefit Transfer) भारत सरकार की एक ऐसा पेेमेंंट सिस्टम है जो सब्सिडी की धनराशि को लाभाार्थियों के खातों में भेेेज दिया जाता है।

डीबीटी एग्रीकल्चर योजना का शुरुआत : Beginning of dbt agriculture scheme :

छात्रवृत्ति तथा सामाजिक सुरक्षा पेंशन को कवर करने के लिए जनवरी 2013 में इस योजना की शुरुआत की गई थी। डीबीटी एग्रीकल्चर योजना की शुरुआत के समय देश के प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह थें।

डीबीटी एग्रीकल्चर योजना के लाभ | dbt scheme benefit :

भारत सरकार द्वारा सब्सिडी हस्तांतरण के तंत्र को बदलने के लिए प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी एग्रीकल्चर
) कार्यक्रम की शुरुआत जनवरी 2013 मे किया गया था। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सरकार द्वारा लाभ आवांटन के बदले दिए जाने वाले विभिन्न प्रकार के कल्याणकारी योजनाओं की देखभाल करना तथा लाभों व सब्सिडी को सीधे लाभार्थियों को उनके बैंक खाते के माध्यम से आसानी व पारदर्शिता के तौर पर भेजना साथ ही साथ विचौलियों व भ्रष्ट अधिकारियों को सहायक धनराशि व सब्सिडी का सुरक्षा प्रदान करना।

डीबीटी एग्रीकल्चर योजना का कार्य | work of Dbt agriculture scheme :

डीबीटी भारत सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं में दिए जाने वाले सब्सिडी की देखभाल करता है तथा किसानों को दिए जाने वाले विभिन्न प्रकार के लाभों को सीधे उनके बैंक खाते में भेजता है। इस कार्यक्रम के तहत डीबीटी एग्रीकल्चर
योजना देश व राज्य में मौजूद सभी किसानों का डाटा इकट्ठा करता है तथा यह निर्धारण करता है कि जो सहायता धनराशि भेजी जा रही है वह धनराशि सही लाभार्थियों को मिल रही है या नही। सब कुछ सही मिलने पर सरकार द्वारा दिए जाने वाले लाभों को उनके खातों में भेजा जा सके। 

अगर आप के मन मे डीबीटी एग्रीकल्चर से सम्बंधित कोई सवाल हो आप हमे नीचे कमेंट बाक्स मेे पूछ सकते हो। कृषि से सम्बंधित अन्य जानकारी के लिए आप हमारे ब्लॉग kisansahayata.com के साथ जुड़े रहे।

Comments are closed.